पैसा कैसे काम करता है

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं कि हम पैसा कैसे बना सकते हैं। इसके लिए दोस्तों हम सीखेंगे आज के हमारे बुक (rich dad poor dad) से इसे लिखी है रॉबर्ट कियोसकी ने तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं।

अमीर बनने का रहस्य

रोबोट कहते हैं कि उनके दो पिता है एक बहुत ही ज्यादा एजुकेटेड है और पीएचडी भी की है। और दूसरे जिन्होंने अपने स्कूल भी पूरा नहीं किया। दोनों हैं अपनी अपनी जगह सक्सेसफुल थे लेकिन एक फाइनेंशली ट्रेवल कर रहे थे और दूसरे उसी शहर के सबसे अमीर आदमी थे। लेकिन दोनों का सोचने का नजरिया अलग अलग था। एक का मानना था कि पैसे से प्यार है सब परेशानियों की जड़ है। और दूसरे का मानना था कि पैसे की कमी है सभी परेशानियों की जड़ है। अब उनके बचपन में यानी रॉबर्ट कियोसकी के सामने यह दुविधा थी की पैसों के बारे में किसकी सुने क्योंकि पैसों के बारे में दोनों ही पिता के अलग-अलग नजरिए थे।उनके एक बेटे थे जो हमेशा कहते थे हम यह ले नहीं सकते यह हमारे बजट में नहीं है वही उनके दूसरे बिताते हैं जो यह शब्द कभी इस्तेमाल नहीं करते थे। यहां तक कि उन्होंने रॉबर्ट को भी मना कर दिया था कि इस शब्द का इस्तेमाल ना करें। वह कहते थे कि तुम अपने आप से पूछो यह चीज तुम कैसे ले सकते हो। वह कहते थे कि अगर तुम यह सोच लेते हो कि यह चीज मैं नहीं ले सकता हूं तो तुम्हारा दिमाग काम करना बंद कर देता है। और जब तुम यह सोचते हो कि कैसे तुम उस चीज को ले सकते हो तो तुम्हारा दिमाग काम पर लग जाता है।उनका यह मानना नहीं था कि तुम सब कुछ खरीदते चलो बल्कि वह यह कहते थे। कि अपने दिमाग को काम पर लगाओ जिससे तुम्हारा दिमाग दिन पर दिन स्ट्रांग होता चला जाएगा। उनके एक फायदा कहते थे कि कभी डिक्स मत लो और दूसरे कहते थे लिरिक्स को मैनेज करना सीखो एक बार कहते थे की अच्छी पढ़ाई करो कॉलेज डिग्री लो और एक अच्छी सेफ एंड सिक्योर जॉब करो वहीं दूसरे फादर कहते थे अच्छी पढ़ाई करो कॉलेज डिग्री लो और पैसा कैसे काम करता है वह सीखो। पैसों के लिए काम मत करो बल्कि पैसों को तुम्हारे लिए काम पर लगाओ।और फिर 9 साल की उम्र में रोबोट ने तय किया कि वह अपने अमीर पिता की सुनेंगे और उनसे पैसे के बारे में सीखेंगे। और पैसे के बारे में वह अपने पढ़े-लिखे और गरीब पिता को फॉलो नहीं करेंगे। दरअसल रोबोट के गरीब पिता बहुत ही पढ़े लिखे थे और टीचर की नौकरी करते थे लेकिन फाइनेंशली बहुत ही गरीब थे। और वही जिसे रोबोट अपना दूसरा पिता कहते थे। वह दरअसल उसके दोस्त माइक के पिता थे जिनके पास रॉबर्ट और माइक पैसे के बारे में सीखने जाते थे। रॉबर्ट के अमीर पिता जिन्होंने अपने स्कूल भी पूरा नहीं किया था लेकिन फिर भी वह उस शहर के सबसे अमीर आदमी थे। रॉबर्ट और माइक के कहने पर वह उन दोनों को पैसा कैसे काम करता है सिखाने के लिए तैयार हो गए तो अमीरपेटा ने पैसे के बारे में उन दोनों को कुछ बहुत ही बहुत ही महत्वपूर्ण बातें बताइए जिसके बारे में अब हम बात करेंगे।


अभी पिता ने कहा कि आप कितना पैसा कमाते हो यह महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि आप कितना बचाते हो यह महत्वपूर्ण है। क्योंकि बहुत से लोगों को यह बात पता नहीं है इसलिए हम अक्सर देखते हैं बहुत ही गरीब आदमी अगर वह अमीर हो जाता है उसकी लॉटरी लग जाती है तो कुछ सालों बाद वह फिर से अपने उसी फाइनेंसियल कंडीशन पर आ जाता है। और हम देखते हैं कोई स्पोर्ट्स प्लेयर जो कि 25 साल की उम्र में करोड़ों रुपए कमा रहा था। लेकिन 10 साल बाद उससे कुछ नहीं बचता है। कुल मिलाकर आप कितना कमाते हैं यह महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि कितना बचाते हैं यह महत्वपूर्ण है।

पहला रुल - assets ओर liabili )

तो आपको इन दोनों के बारे में पता होना चाहिए और इन दोनों के बीच का डिफरेंस पता होना चाहिए। अमीर पिता ने इन दोनों के बारे में बहुत ही सरल भाषा में बताया कि assets आपके आपके जेब में पैसा डालती है और वही liability आपके जेब से पैसा निकालती है। आपको अमीर बनना है तो आपको assets खरीदना होगा और अगर आप को गरीब बना है तो liability खरीदना होगा। कोई भी अमीर आदमी पढ़ा लिखा हो या ना हो लेकिन उसे पता होता है कि पैसा कैसे काम करता है और पैसा कैसे काम करता है स्कूल में कभी नहीं सिखाया जाता ओर नहीं कॉलेज में सिखाया जाता है। दोस्तों इन सब से मतलब है कि हमें अपना इनकम सोर्स बढ़ाना चाहिए ना कि अपने खर्चे बढ़ाना चाहिए। एक गरीब आदमी का इनकम सोर्स होता है उसकी सैलरी जोकि अपने खर्चे में बच्चों की स्कूल में खर्च हो जाता है और महीने के आखिरी में वह कर्ज मांगने के लिए मजबूर हो जाता है। अगर इन सब के बावजूद भी अगर थोड़ा कुछ बच जाता है तो गरीब आदमी कभी उसे इन्वेस्ट करने कि नहीं सोचता क्योंकि उन्हें इस बारे में पता ही नहीं होता है उन्हें ना स्कूल कॉलेज में सिखाया होता है ना ही मां-बाप ने और ना ही दोस्तों ने यह तो ठीक हूं और आदमी की बात अब बात करते हैं मिडिल क्लास उनका भी कुछ ऐसा ही होता है मान लीजिए किसी की नई नई शादी हो जाए जो कि किराए के मकान पर रहते हैं तू आप सोचेंगे कि नया घर लिया जाए जो कि अच्छी बात की है लेकिन उनका लेने का तरीका अलग होता है नया घर ले लिया कुछ फर्नीचर ले लिए लेकिन यह सब लिया लोन पर जिसकी वजह से उनकी पूरी सैलरी क्रेडिट कार्ड बिल लोन ईएमआई और अपने खर्चे में निकल जाती है।


चलिए अमीर आदमी की बात करते हैं रोबोट के पिता जिनका का सारा पैसा उनके खर्चों में चला जाता था। वही रोबोट के दूसरे पिता क्यों पढ़े लिखे तो नहीं थे लेकिन पैसा कैसे काम करता है उन्हें अच्छे से पता था इसलिए अपने खर्चों से ज्यादा कमाने पर ज्ञान देते थे और उन्होंने बहुत जगह इन्वेस्ट भी कर रखा थागरीब आदमी मेहनत करना तो जानता है और पैसा कैसे काम करेगा यह नहीं जानता वह वह कड़ी मेहनत तो कर सकते हैं पैसे से कैसे काम करवाना है नहीं कर सकते जैसे जैसे गरीब आदमी का हैंड कब बढ़ता है वैसे वैसे उनके खर्चे भी बढ़ जाते हैं लेकिन अमीर आदमी ऐसा नहीं करते इनकम बढ़ाते हैं और कल से सीमित रखते हैं गरीब आदमी को लगता है कि पैसे बढ़ने से उनकी समस्याएं खत्म हो जाएंगी इसलिए वह अपनी सैलरी बढ़ाने के लिए मेहनत करते हैं लेकिन चाहे उनकी सैलरी कितनी भी बढ़ जाए उनकी पैसे की समस्या खत्म नहीं होती। वह यह नहीं जानते कि उनकी असली समस्या जो उनके पास पैसा है उसे कैसे खर्च कर रहे हैं इसमें छुपी है। तो सबसे ज्यादा समझने वाली बात यह है कि आप सबसे पहले खुद खुद पर खर्च कीजिए आप मेरी इस बातों से कई लोग समझ रहे होंगे खुद पर खर्च करेंगे तो यह तू वही बात हो गई इससे हम अमीर कैसे भर देंगे तो दोस्तों मेरा कहने का मतलब यह है कि आप जितना भी कमाते हैं उसमें से कुछ हिस्सा आप सेव कीजिए चाहे 10% है क्यों ना हो चाहे आप पर कितनी समस्या ही क्यों ना हो आप हर महीने अपने कपड़े का 10 परसेंट सेव कीजिए। दोस्तों अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो समझ लीजिए कि आपने अमीर बनने की तरफ पहला कदम रख दिया है। और यह सब बचाकर आप उन सब चीजों में इन्वेस्ट कीजिए जिससे आपको पैसा आए ना कि आपके खर्चे बढ़े। अमीर आदमी कुछ खरीदने से पहले सोचता है कि इसे मैनेज कैसे सकता है या यूं कह लीजिए उसे खर्चे को कैसे सेटल करना है यह सोचता है लेकिन अब गरीब आज मैं ऐसा नहीं सोचता और उसका इनकम भी सैलरी होता है वह कोई महंगी चीज खरीद लेता है उसकी सैलरी भी चली जाती है और बाद में वह कर्ज में डूब जाता है।

 तो आज के लिए बस कितना है आगे इसका और भी पाठ आएगा जिसमें हम और भी छोटी-छोटी चीज है सीखेंगे कैसे पैसा काम करता है और कैसे हैं हम अपने पैसे को काम पर लगा सकते हैं

Post a Comment

0 Comments